बिलासपुर जिले के सीपत और मस्तूरी नगर पंचायत बनेंगे। पचपेड़ी में महाविद्यालय आरंभ होगा। इस बात की घोषणा मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज बिलासपुर जिले के मस्तूरी विधानसभा के ग्राम सीपत में आयोजित भेंट-मुलाकात के दौरान की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के जमीनी क्रियान्वयन की स्थिति जानने हितग्राहियों से चर्चा की।

मुख्यमंत्री ने मस्तूरी विधानसभा के लिए 96 करोड़ 99 लाख रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। इसमें 22 करोड़ 47 लाख रुपए से अधिक राशि के 13 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं 74 करोड़ 51 लाख रुपए से अधिक राशि के 66 विकास कार्यों का भूमिपूजन शामिल है। भेंट-मुलाकात के दौरान राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष श्री अटल श्रीवास्तव, अपेक्स बैंक के अध्यक्ष श्री बैजनाथ चंद्राकर एवं अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

रागी की फसल ले रहे किसान, बताया काफी लाभ हो रहा- मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा मिलेट मिशन को प्रोत्साहित किये जाने के जमीनी असर नजर आने लगे हैं। देवदत्त साहू ने बताया कि इस बार दो एकड़ में रागी लगाया है। उम्मीद है कि पचास से साठ हजार रुपए का फायदा मिल जाएगा। इसमें लागत भी कम है और 90 दिन की फसल है। पानी भी कम लगता है। मुझे तो इसकी खेती अच्छी लगी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गर्मी की धान फसल में 110 से 120 दिन का समय लगता है। यह आपने अच्छा किया।

पहले नौकरी करता था, अब खेती के माध्यम से 4 लोगों को नौकरी दी है-  किसान चंद्रप्रकाश कौशिक ने कहा कि पहले मैं खेती से दूर जा चुका था। कुछ कर्ज था। 2018 तक नौकरी करता था। जब कर्जमाफी हुई तो तीन लाख रुपए माफ हो गया। आपके निर्णयों से खेती काफी लाभप्रद हो गई है। सारी किश्तें मिल गई हैं। समय पर धान का पैसा मिल जाता है। पहले नौकरी करता था, अब चार लोगों को नौकरी दे रहा हूँ। मुख्यमंत्री ने पूछा कि बहु के लिए क्या लाए। श्री कौशिक ने कहा कि अभी साल भर ही हुआ है। मुख्यमंत्री ने पूछा कि शादी के लिए कर्ज लिया क्या। श्री कौशिक ने कहा कि नहीं, इसकी जरूरत ही नहीं पड़ी। मुख्यमंत्री ने खुशी जताते हुए कहा कि यह बहुत अच्छा हो रहा है। पहले शादी ब्याह जैसे मंगल आयोजनों के लिए किसानों को कर्ज लेना पड़ता था, अब खेती किसानी में लाभ होने लगा है इसलिए कर्ज भी नहीं लेना पड़ रहा है। श्री कौशिक ने बताया कि वो राजीव गांधी युवा मितान क्लब से भी जुड़े हैं। वे क्लब के अध्यक्ष हैं। जब पहली बार छत्तीसगढ़िया खेल कराए तो बच्चे खेल नहीं पा रहे थे। तब हम लोगों को लगा कि मुख्यमंत्री जी ग्रामीण खेलों को बढ़ाने के लिए कितना अच्छा काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि हम लोग सप्ताह में एक दिन क्लब के माध्यम से श्रमदान करते हैं।

कोविड आपदा में पिता नहीं रहे, स्वामी आत्मानंद स्कूल में पढ़ रही छात्रा ने बोर्ड परीक्षा में लाये 91 प्रतिशत अंक- मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर बोर्ड परीक्षाओं में उत्तीर्ण हुए छात्र-छात्राओं से चर्चा भी की। फलक पटेल ने बताया कि वो स्वामी आत्मानंद स्कूल में पढ़ती हैं। अभी 10वीं बोर्ड का नतीजा आया और इसमें 91 प्रतिशत अंक आये हैं। मैं डाक्टर बनना चाहती हूँ। मुख्यमंत्री ने माता-पिता के बारे में पूछा। फलक ने बताया कि मेरे पिता कोविड आपदा में नहीं रहे। महतारी दुलार योजना से मुझे स्वामी आत्मानंद स्कूल में एडमिशन मिला। मुख्यमंत्री ने फलक को अच्छे नंबरों के लिए बहुत बधाई दी। गरिमा यादव ने बताया कि उनके स्कूल में बहुत अच्छी पढ़ाई होती है।

दूध से ज्यादा कमा रहा हूँ गोबर में – उत्तरी विश्वकर्मा ने बताया कि उनका समूह वर्मी कंपोस्ट बनाने का काम करता है। उन्होंने ढाई लाख रुपए का वर्मी कंपोस्ट बेचा है। 70 हजार रुपए की आय केंचुआ बेचकर हुई है। बचत राशि हम सब लोगों ने बांट ली। साथ ही बचत की ही राशि का कुछ धन इकट्ठा कर भागवत कथा भी गाँव में कराई। निखिल जायसवाल ने बताया कि वे हर महीने 80 से 90 क्विंटल गोबर बेचता हूँ। इसके माध्यम से मैं 20 हजार रुपए तक महीने कमाता हूँ। दूध से ज्यादा कमाई तो मैं गोबर से कर रहा हूँ। वहीं मिथिलेश श्रीवास ने बताया कि सही समय पर बेरोजगारी भत्ता मिला है। अब वे खूब पढ़ाई करेंगे।

मुख्यमंत्री की घोषणाएं- मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ग्राम पंचायत सीपत एवं मस्तूरी को नगर पंचायत बनाने के साथ ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सीपत को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाने, ग्राम पंचायत पचपेड़ी में शासकीय महाविद्यालय खोलने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने खम्हरिया में पुलिस चौकी स्थापना की स्वीकृति, मस्तूरी में संचालित अनुसूचित जाति कन्या प्री मेट्रिक एवं पोस्ट मेट्रिक छात्रावास में 50-50 सीटों की वृद्धि की घोषणा की। ग्राम जयरामनगर में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने के साथ ही ग्राम पंचायत कुकदा की मिडिल स्कूल को हाई स्कूल में और धनिया और ग्राम महमंद के हाईस्कूल को हायर सेकेंडरी स्कूल में उन्नयन करने की घोषणा भी की। उन्होंने ग्राम पंचायत पेंड्री से खोरसी पहुंच मार्ग में पुल निर्माण सहित डामरीकरण, ग्राम सीपत में समेताभाठा से देवरहा मंदिर तक, सुखरीतालाब से सेमरिया बाबा आश्रम तक डब्ल्यूबीएम कराने, सीपत के नवाडीह चौक से पुराना दर्राभाठा रोड का डामरीकरण कराने की घोषणा भी की। ग्राम दर्राभाठा में स्वास्थ्य केंद्र के निर्माण, ग्राम जांजी में खाद्य भवन निर्माण, ग्राम बेलटुकरी में सीसी रोड एवं मिनी स्टेडियम निर्माण, ग्राम देवरी में नये पंचायत भवन का निर्माण, मस्तूरी मुख्यालय में विश्रामगृह का निर्माण कराने के साथ ही कुटेला धाम का पर्यटन स्थल के रूप में विकास कराने का निर्णय भी लिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here